Contact Information

दोस्तों को शराब नहीं पिलाई तो माल से लदा ट्रक जला दिया


बड़ामलहरा। थाना क्षेत्र के सेंधपा गांव में शनिवार रविवार की दरम्यानि रात ट्रक चालक द्वारा शराब के लिये पैसे न देने पर आरोपियों ने आधी रात के वक्त ट्रक को आग के हवाले कर दिया जिससे ट्रक में लदा लाखों का कपड़ा जलकर राख हो गया। गनीमत ये रही कि ट्रक में सो रहा चालक का भाई सुरक्षित बच गया।


बडामलहरा टीआई एसके दुबे ने बताया कि सेंधपा गांव का निवासी 35 वर्षीय राजेश पुत्र सरमन अहिरवार महाराष्ट्र के नागपुर मैं रहकर वहाँ अनूप नगरिया ट्रांसपोर्ट कं. का ट्रक चालक है। राजेश ट्रक क्र.एम एच 40एके 4382 में नागपुर से कपड़े की गांठे और लोहे की चद्दर लादकर छतरपुर और मऊरानीपुर जा रहा था कि शनिवार की शाम तकरीबन 5:00 बजे बड़ामलहरा पहुंचने के बाद ट्रक लेकर अपने गांव सेंधपा में पुलिस चौकी और पानी की टंकी के पास ट्रक को खड़ा कर अपने घर चला गया तथा ट्रक की रखवाली के उद्देश्य से अपने भाई सुरेश अहिरवार को ट्रक में सुला दिया। 


ट्रक चालक राजेश ने बताया कि जब वह शाम को ट्रक लेकर पहुंचा तो गांव के ही कल्लू पुत्र नंद किशोर अहिरवार, देशराज पुत्र मातादीन अहिरवार राकेश पुत्र जुगला अहिरवार ने शराब पीने के लिए पैसों की मांग की। पैसे देने से इनकार करने पर उक्त तीनों आरोपी यह कहकर धमकाते हुए चले गए कि सुबह पता चल जाएगा। टीआई ने बताया कि रात तकरीबन 12:40 बजे उक्त ट्रक को पिछले हिस्से में पेट्रोल डालकर आग लगा दी। जैसे ही आग ने ट्रक को अपनी आगोश में लिया कि ट्रक का पहिया फटने से तेज आवाज होने के चलते ट्रक के अंदर सोया चालक राजेश का भाई सुरेश जाग गया। 


इत्तेफाक से रात्रि गस्त कर रही पुलिस का वाहन भी मौके पहुंच गया। पुलिस ने तुरंत बडामलहरा से फायर बिग्रेड बुलाकर आग पर काबू पा लिया। हालांकि इसके बाद भी ट्रक में लदा लाखों का कपडा जलकर राख हो तथा लोहे की चद्दर क्षतिग्रस्त हो गई। टीआई के मुताबिक यदि समय पर आग पर काबू नहीं हो पाता तो जन और धन की भारी क्षति से इंकार नहीं किया जा सकता।


पुलिस ने ट्रक चालक राजेश की रिपोर्ट पर तीनों आरोपियों के विरुद्ध धारा 435 427 34 आईपीसी का मामला दर्ज कर तीनों आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।