Contact Information

कोई भी बुखार डेंगू हो सकता है, बुखार होने पर तुरंत कराएं इलाज 

ग्वालियर। बुखार के साथ-साथ यदि तेज सिरदर्द, आंखों के आसपास व मांसपेशियों में दर्द तथा शरीर पर चकते बनना आदि लक्षणों में से दो या दो से अधिक लक्षण दिखाई देने पर कोई भी व्यक्ति डेंगू का मरीज हो सकता है। कभी-कभी रोगी को होने वाला सामान्य बुखार भी डेंगू हो सकता है। इसलिए डेंगू होने पर तुरंत चिकित्सक से परामर्श लें। इन लक्षणों के साथ-साथ मसूड़ों अथवा आंखों से रक्त स्त्राव अथवा रक्त में प्लेटलेट्स का कम होना आदि गंभीर प्रकार के डेंगू बुखार के सूचक हैं। जो कि हानिकारक हैं। ऐसी स्थिति में मरीज को अस्पताल में चिकित्सक की सलाह के अनुसार उपचार लेना चाहिए। 
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी मृदुल सक्सेना ने आमजन से अपील की है कि इस प्रकार के लक्षण दिखाई देने पर तत्काल निकटतम शासकीय चिकित्सालय में संपर्क करें और बीमारी का समय पर इलाज कराएं। इसके साथ-साथ डेंगू से बचाव के लिए कुछ सावधानियां बरतने को भी कहा है। उन्होंने कहा है कि घर में पानी के कंटेनर ढंककर रखें, सप्ताह में एक बार पानी के कंटेनर को अवश्य खाली करें, पैराथ्रम नामक दवा को कैरोसीन में मिलाकर आसपास छिडक़ाव किया जा सकता है। पूरी बांह के कपड़े पहनें तथा शरीर को ढंककर रखें। सोते समय मच्छरदानी का उपयोग करें। नीम के पत्तों का धुंआ करें तथा खिडक़ी दरवाजों पर जाली लगवाएं। उन्होंने कहा है कि घरों के आस-पास पानी इकठ्ठा न होने दें। पानी इकठ्ठा होने पर मिट्टी का तेल अथवा जला हुआ तेल डालें। बुखार आने पर खून की जाँच अवश्य कराएं। 
डेंगू बुखार वायरस एडीज नामक मच्छर के काटने से होता है। यह मच्छर दिन के समय काटता है। यह रोगी व्यक्ति से स्वस्थ व्यक्ति में फैलता है। इसलिये डेंगू बुखार से बचने के लिए विभिन्न उपायों को अपनाएं एवं सावधानी बरतें।