गोपनीय बैठक के बाद मंत्री तोमर ने जमकर की निगमायुक्त की प्रशंसा

ग्वालियर। नगर निगम प्रशासन वैसे तो सभी जनप्रतिनिधियों के निशाने पर रहता है। विशेषकर प्रदेश सरकार के मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर और उनके पूर्व पार्षद भाई देवेन्द्र सिंह तोमर निगम प्रशासन को कोसते रहते हैं मगर मंगलवार को मंत्री तोमर उनके भाई और निगमायुक्त के बीच हुई गोपनीय बैठक के बाद बुधवार को मंत्री ने अनेक कार्योक्रमों में निगम प्रशासन की जमकर तारीफ की। बताया जाता है कि गोपनीय बैठक का उद्देश्य मंत्री व उनके भाई द्वारा अपनी विधानसभा के विकास कार्यों को पूरा कराना है। इस बैठक में कुछ जरूरी गोपनीय बातें भी हुई हैं। जिनका खुलासा मंत्री अधिकारी करना नहीं चाहते हैं। बुधवार को प्रदेश सरकार की सुपरवार्ड अभियान की शुरुआत मंत्री ने की। इसमें उन्होंने निगम प्रशासन के कार्यों की जमकर प्रशंसा की। उन्होंने कहा निगम प्रशासन जिस तरह से सफाई कर रहा है उससे ग्वालियर की हालत सुधरेगी। मंत्री श्री तोमर के इन दावों के विपरीत शहर में सफाई व्यवस्था पूरी तरह से ठप हो चुकी है। दीवाली की सफाई के बाद घरों से निकला करीब एक हजार टन कचरा शहर की सडक़ों पर पसरा हुआ है। इसके बाद भी आये दिन निगम कर्मचारी और ईकोग्रीन के कर्मचारी हड़ताल कर देते हैं। 
खाद्य मंत्री श्री तोमर ने निरीक्षण के दौरान नगर निगम आयुक्त संदीप माकिन से कहा कि पार्कों को व्यवस्थित करने की दिशा में और तेजी के साथ कार्य किया जाना चाहिए। सभी कॉलोनियों के पार्क व्यवस्थित हों और रहवासी उनका उपयोग करने के साथ-साथ देखभाल भी करें, ऐसी व्यवस्थाएं बनाई जाना चाहिए। निरीक्षण के दौरान नेता प्रतिपक्ष कृष्णराव दीक्षित, नगर निगम आयुक्त संदीप माकिन, अधीक्षण यंत्री पीएचई आर एल एस मौर्य, कार्यपालन यंत्री जागेश श्रीवास्तव, उपायुक्त हसीन अख्तर उपस्थित थे।