Contact Information

जिला प्रशासन एवं इस्कॉन मंदिर उज्जैन के संयुक्त तत्वावधान में कार्यशाला सम्पन्न 

ग्वालियर। लोगों में अपने जीवन में तनाव को कम करने के लिए जिला प्रशासन एवं इस्कॉन मंदिर उज्जैन के संयुक्त तत्वावधान में बाल भवन ग्वालियर में कलेक्टर अनुराग चौधरी की अध्यक्षता में मंगलवार को कार्यशाला सम्पन्न हुई। कार्यशाला का शुभारंभ कलेक्टर अनुराग चौधरी ने माँ सरस्वती की मूर्ति पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्ज्वलित कर किया। कार्यशाला में बृजेन्द्र कृष्णदास (प्रभुजी), अपर कलेक्टर टी एन सिंह, अपर कलेक्टर श्री रिंकेश वैश्य एवं डॉ. सत्यप्रकाश सहित समाज के विभिन्न वर्गों के लोग उपस्थित थे। 
कलेक्टर अनुराग चौधरी ने कार्यशाला को संबोधित करते हुए कहा कि वर्तमान समय में व्यक्ति का जीवन व्यस्ततम होने से व्यक्ति तनाव में आ जाता है। उन्होंने कहा कि प्राचीन समय में संयुक्त परिवार की प्रथा थी, जिसके कारण लोगों के दायित्व निर्धारित थे। जबकि आज आधुनिक समय में व्यक्ति भागदौड़ की जिंदगी में अधिक व्यस्त एवं तनावग्रस्त है। उन्होंने कहा कि सभी धर्मों में हमारे पूर्वजों द्वारा जो संस्कार एवं संदेश दिए गए हैं उसे हम अपने जीवन में आत्मसात करें। जिससे हम तनाव मुक्त जीवन जी सकें। 
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बृजेन्द्र कृष्णदास ने कहा कि पृथ्वी पर सभी प्रजातियों में मानव एक ऐसी प्रजाति है जिसमें सोचने, समझने की शक्ति होने के बाद भी सर्वाधिक तनाव में रहती है और आत्महत्या करती है। जबकि इस प्रकार की घटनाएं अन्य प्रजातियों में नहीं देखी गई है। उन्होंने कहा कि व्यक्ति के जीवन में क्रोध एक ऐसे जलते हुए कोयले के समान है जो दूसरे को नुकसान देने के साथ स्वयं को भी नुकसान पहुँचाता है। उन्होंने कहा कि अगर समाज में काम, क्रोध एवं लोभ समाप्त हो जाए तो जीवन में लोगों की समस्यायें स्वत: ही खत्म हो जायेंगीं। उन्होंने कहा कि व्यक्ति को असफल होने पर निराश एवं घबड़ाने की आवश्यकता नहीं है बल्कि बार-बार प्रयास, मेहनत एवं आत्मविश्वास से निर्धारित लक्ष्य प्राप्त किया जा सकता है। इस मौके पर श्री विक्रम राणा ने शंख बजाकर शंखनाद किया। कार्यक्रम का संचालन डॉ. सत्यप्रकाश ने किया।