Contact Information

कमलनाथ सरकार के खिलाफ भाजपा ने किया किसान आंदोलन

ग्वालियर। प्रदेश भर के किसान बदहाल हैं, लेकिन प्रदेश सरकार को कतई उनकी चिंता नहीं है। बारिश से बर्बाद हुई फसलों का तत्काल मुआवजा दिया जाना चाहिए था, नहीं मिला। बिजली का बिल आधा करने की बात कही थी, लेकिन किसानों के बिजली बिल बढक़र आ रहे हैं। प्रदेश सरकार की वादा खिलाफी के विरोध में भारतीय जनता पार्टी ने सोमवार को जिला मुख्यालय पर आंदोलन किया।
भारतीय जनता पार्टी के शहर एवं ग्रामीण जिलाध्यक्ष ने भाजपा मीडिया सेंटर के माध्यम से बताया कि कमलनाथ सरकार की किसान कर्जमाफी के झूठे वादे का भी शिकार हुए हैं। इसलिए भारतीय जनता पार्टी ने यह तय किया है कि किसानों की उपेक्षा के खिलाफ पार्टी सोमवार 4 नवंबर से किसान आक्रोश आंदोलन शुरू किया। इसमें पूर्व कैबिनेट मंत्री उमा शंकर गुप्ता एवं ग्वालियर सांसद विवेक नारायण शेजवलकर के नेतृत्व में अलका पूरी चौराहे पर बड़ी संया में भाजपा के कार्यकर्ता व नेता एकत्रित हुए और रैली के रूप में अलकापुरी चौराहे से कलेक्ट्रेट पहुंचे जहां जमकर प्रदर्शन किया।
प्रदर्शन के बाद भाजपा द्वारा कलेक्टर को ज्ञापन सौंपते हुए कमलनाथ सरकार पर किसान विरोधी होने के आरोप लगाते हुए कहा कि अपने वचनपत्र में कमलनाथ सरकार ने किसानों के दो लाख तक के कर्ज माफ करने की बात कही थी। किन्तु दस माह बीत जाने के बाद भी किसानों का कर्जा माफ नहीं कर पाई है। यदि सरकार ने हमारी मांगों पर ध्यान नहीं दिया तो भाजपा सडक़ों पर उतरकर सरकार का खुलकर विरोध करेगी।