Contact Information

एक साल में भी किसानो का कर्जा माफ नहीं-उमाशंकर गुप्ता

ग्वालियर। चुनाव से पहले कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष जोर शोर से वादा करते थे कि अगर दस दिन में किसानों का कर्जा माफ नहीं हुआ तो सीएम साफ हो जाएगा। सीएम तो साफ नहीं हुआ राहुल ही साफ हो गए। कर्जा माफ ना होने से किसान ठगा हुआ है और कमलनाथ सरकार हर मोर्चे पर फैल हो गई। यह बात पूर्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए। इस अवसर पर देवेश शर्मा, महेश उमरैया, रामेश्वर भदौरिया, पवन सेन मौजूद थे।
उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में कहा था, सभी किसानों का 2.00 लाख तक का कर्ज माफ करेंगे। जिसमें सहकारी बैंक एवं राष्ट्रीयकृत बैंकों कर्ज शामिल रहेगा। मप्र की कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार 25 प्रतिशत किसानों की भी कर्ज माफी नहीं कर पायी है। इस कारण किसान भरोसे में फसल बीमा सहित अन्य सुविधाओं से भी वंचित रह गया। कांग्रेस को जनता के सामने यह स्पष्ट करना चाहिए कि जब विधानसभा चुनाव में दो लाख की कर्ज माफी का वादा किया था। तो उसके लिए धन का प्रावधान क्यों नहीं किया गया था। बात-बात पर केंद्र सरकार को कोसने वाली मध्यप्रदेश की कांग्रेस सरकार ने सीधे-सीधे किसानों को धोखा दिया है। 
कांग्रेस ने वचन पत्र में कहा था, किसानों को थ्री-फेस की बिजली प्रतिदिन 12 घंटे देना सुनिश्चित करेंगे, जिसमें कम से कम 8 घंटे दिन का समय रहेगा। सरकार नियमित रूप से खेती के लिए दिन में 12 घंटे बिजली देने का वचन पूरा करें और ग्रामीण क्षेत्रों में अविलंब कटौती बंद कर नियमित रूप से दिन में 24 घंटे घरेलू बिजली आपूर्ति करे।