सफाई अभियान: तीन स्कूलों को स्मार्ट स्कूल बनायेंगे 

ग्वालियर। कलेक्टर अनुराग चौधरी ने कहा कि स्वच्छता अभियान के तहत जिले के सभी विधानसभा क्षेत्रों में स्थानीय निकायों एवं संबंधित विभागों के समन्वय से साफ-सफाई का अभियान चलेगा। यह अभियान 5 दिसम्बर को निम्बाजी की खो में प्रात: 7.30 बजे शुरू किया जायेगा। गंदगी फैलाने वालों पर स्थल पर ही अर्थदण्ड की कार्रवाई की जायेगी। उक्त आशय की जानकारी कलेक्टर अनुराग चौधरी ने बुधवार को अंतरविभागीय समन्वय समिति की बैठक में दी। कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित बैठक में नगर निगम आयुक्त संदीप माकिन, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी शिवम वर्मा, अपर कलेक्टर अनूप कुमार सिंह, एडीएम टी एन सिंह, रिंकेश वैश्य सहित जिला अधिकारीगण उपस्थित थे। 
कलेक्टर ने कहा कि स्वच्छता अभियान के तहत प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में नगरीय निकायों एवं अन्य विभागों के सहयोग से स्वच्छता अभियान संचालित किया जायेगा। एक विधानसभा क्षेत्र के पूर्ण होने पर दूसरे क्षेत्र में संचालित होगा। उन्होंने कहा गंदगी करने पर मौके पर गंदगी फैलाने वालों पर अर्थदण्ड की कार्रवाई की जाएगी। 
कलेक्टर श्री चौधरी ने कहा कि ग्वालियर नगर में नगर निगम के सहयोग से तीन स्कूलों को स्मार्ट स्कूलों के रूप में विकसित किया जायेगा। इसके लिए शिक्षा विभाग के अधिकारियों को स्कूलों के चयन की कार्रवाई शुरू करने के निर्देश दिए हैं। श्री चौधरी ने नगर निगम एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि नगर के अंदर तलघरों में अवैध रूप से संचालित पेथोलॉजी लेबों के विरूद्ध कार्रवाई करें। उन्होंने कहा कि सडक़ों पर घूमने वाले आवारा पशुओं को चारा खिलाने वालों के विरूद्ध भी कार्रवाई करें। 
श्री चौधरी ने जिले के सभी एसडीएम को निर्देश दिए कि उनके कार्य क्षेत्र में संचालित ढाबों पर श्रम निरीक्षक के साथ आकस्मिक निरीक्षण कर यह देखें कि इन ढाबों पर बाल श्रमिकों के रूप में बच्चों से कार्य न लिया जाए। बाल श्रम करते पाए जाने पर संबंधित ढ़ाबा संचालक के भी विरूद्ध कार्रवाई करें। कलेक्टर अनुराग चौधरी ने नगर निगम एवं लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि उनके द्वारा निर्मित सडक़ों जिन पर जीर्णोद्धार एवं मरम्मत का कार्य किया जाना है उसे तत्परता के साथ करें। 
कलेक्टर श्री चौधरी ने नगर की यातायात व्यवस्था को सुदृढ़ करने हेतु ई-रिक्शा मैनेजमेंट प्लान बनाने के साथ शिंदे की छावनी, गोला का मंदिर, पाटनकर चौराहा, बहोड़ापुर, चार शहर का नाका को स्पॉट के रूप में विकसित करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि नगर स्वच्छ एवं सुंदर दिखे, इसके लिए स्मार्ट सिटी के माध्यम से तानसेन, लक्ष्मीबाई एवं योगा के चित्रों को दीवार पर प्रदर्शित किया जाए। जिस पर इतिहास का भी उल्लेख हो। बैठक में सीएम हैल्पलाइन के लंबित प्रकरणों के निराकरण की समीक्षा करते हुए कहा कि ऐसे विभाग जिनके द्वारा वर्ष 2018 के सीएम हैल्पलाइन के लंबित प्रकरणों के निराकरण करने के निर्देशों के बाबजूद निराकरण नहीं करने पर उन कार्यालय प्रमुखों के विरूद्ध कार्रवाई हेतु प्रस्ताव वरिष्ठ अधिकारी को भेजा जायेगा।